Dr. Vikas Divyakirti Biography in Hindi

हेलो दोस्तों, आज आप सभी लोगों को एक ऐसे आईएएस ऑफिसर और एक बेहतरीन आईएएस शिक्षक के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। इन्होंने आईएएस जैसे ऊंचे पद वाली नौकरी को छोड़ कर और यूपीएससी परीक्षा में नंबर वन स्थान पाकर आज एक आईएएस अध्यापक और लेखक के रूप में अपने जीवन को समर्पित कर दिया है। जिनकी हम बात कर रहे हैं उनका नाम है, विकास दिव्यकीर्ति।

Table of Contents

हेलो दोस्तों, आज आप सभी लोगों को एक ऐसे आईएएस ऑफिसर और एक बेहतरीन आईएएस शिक्षक के बारे में आपको बताने जा रहे हैं। इन्होंने आईएएस जैसे ऊंचे पद वाली नौकरी को छोड़ कर और यूपीएससी परीक्षा में नंबर वन स्थान पाकर आज एक आईएएस अध्यापक और लेखक के रूप में अपने जीवन को समर्पित कर दिया है। जिनकी हम बात कर रहे हैं उनका नाम है, विकास दिव्यकीर्ति।

डॉ विकास दिव्यकिर्ति ने आईएएस ऑफिसर का पद छोड़कर और बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए उनके सही मार्गदर्शन के लिए खुद को एक अध्यापक के रूप में चुन लिया। इसके अलावा डॉ विकास दिव्यकीर्ति एक लेखक के रूप में भी माने जाते हैं।

आज हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा डॉ विकास दिव्यकीर्ति कौन है, उनका जन्म, शिक्षा और कैरियर और उन्होंने अपने जीवन में जिन उपलब्धियों को हासिल किया उन सभी के बारे में विस्तार से आपको जानकारी देंगे तो,आइए जानते हैं Dr. vikas divyakirti biography in hindi के जीवन के बारे में…

जानकारी
पूरा नाम डॉ.विकास दिव्यकीर्ति
उपनाम विकास
पेशा IAS ट्रेनर, लेखक, संस्थापक, प्रबंध निदेशक
आयु 45 वर्ष (2021 के अनुसार)
जन्म तिथि 1976 साल
जन्मस्थान हरियाणा, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
धर्म हिंदू धर्म
राशि वृषभ राशि
लिंग पुरूष
भाषा हिंदी और अंग्रेजी
शौक यात्रा करना, पढ़ना
गृहनगर हरियाणा, भारत

Dr. Vikas Divyakirti Biography in Hindi विकास दिव्यकीर्ति का शारीरिक माप

उँचाई (लगभग) सेंटीमीटर में ऊंचाई 165 सेमी
उँचाई मीटर मे 1.65 मीटर
उँचाई फीट इंच में 5 फिट 5 इंच
वजन (लगभग) किलोग्राम में वजन 65 किलो
पाउंड में वजन 143 lbs
शारीरिक माप (लगभग) छाती का आकार 40 इंच
कमर का आकार 32 इंच
बाइसेप्स का आकार 14 इंच
आंखों का रंग काला
बालों का रंग काला

डॉ.विकास दिव्यकीर्ति की शिक्षा (Dr.Vikas Divyakirti Education)

नाम शिक्षा
स्कूल का नाम सरस्वती शिशु मंदिर
कॉलेज का नाम दिल्ली, विश्वविद्यालय
शैक्षणिक योग्यता इतिहास में स्नातक, हिंदी में मास्टर एम.फिल और हिंदी में P.hd

Dr.Vikas Divyakirti Social Media

Social Media Social ID and Links
Instagram Dr. Vikas Divyakirti Sir
Facebook drishti ias
Twitter twitter
YouTube Drishti IAS
Official Site drishtiias.Com

 

 डॉ विकास दिव्यकीर्ति 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति हमारे देश के एक बेहतरीन आईएएस ऑफिसर रह चुके हैं। डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने अपने जीवन में बहुत संघर्षों का सामना किया था।आज डॉक्टर विकास कड़ी मेहनत,लग्न और परिश्रम के साथ हमारे देश के प्रसिद्ध आईएएस ऑफिसर बने। उनका जीवन देश के हर युवा वर्ग के लिए एक प्रेरणा दायक बन गया है।

डॉक्टर विकास अपने अंदर इतनी योग्यता रखते हैं कि केवल 1 से 2 महीने के अंदर जो आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं उन सभी विद्यार्थियों को ट्रेनिंग दे सकते हैं, क्योंकि उनका खुद का अपना अनुभव आईएएस बनने का उसमें डॉ विकास ने खुद को उन सभी परिस्थितियों में डाला जो कि एक आईएएस ऑफिसर को बनाने के लिए होती हैं। 

 वर्तमान समय के अध्यापक लेखक के रूप में डॉ विकास दिव्यकिर्ति 

आज वर्तमान समय में डॉ विकास दिव्यकीर्ति इसीलिए चर्चा में है,क्योंकि उन्होंने एक बेहतरीन आईएएस ऑफिसर पद को कुछ दिन कार्य करने के बाद में उस जॉब से डॉ विकास ने इस्तीफा दे दिया। उसके बाद इन्होंने आगे और पढ़ाई की और वर्तमान समय में यह एक अच्छे अध्यापक और लेखक के रूप में जाने जाते हैं।

जैसा कि आप सब लोग जानते हो आज हमारे देश में आईएएस ऑफिसर की नौकरी सबसे ऊंचे पद की नऔर बहुत कठिन नौकरी मानी जाती है। इसकी पढ़ाई करना भी आसान कार्य नहीं होता है। लेकिन डॉक्टर विकास दिव्यकिर्ति ने अपनी आईएएस की नौकरी को छोड़ कर अध्यापन व लेखन में ही खुद को आगे बढ़ाया। इसीलिए आज यह सभी देश के युवाओं की प्रेरणा बन चुके हैं, और वर्तमान समय में बहुत लोकप्रिय भी हो गए हैं। और आज वर्तमान समय में यह एक जाने-माने अध्यापक लेखक में एक बहुत बड़े आईएएस कोचिंग सेंटर के संस्थापक भी है।

Dr. vikas divyakirti biography in hindi 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने अपने जीवन में कड़ी मेहनत और लगन के साथ में इन ऊंचाइयों को छुआ है, आइए आज आपको उनके जीवन के बारे में सभी बातें बताने जा रहे हैं… 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति का प्रारंभिक जीवन

डॉ विकास दिव्यकीर्ति का जन्म हरियाणा प्रांत में सन 1976 में हुआ था। इनका पालन-पोषण और बचपन हरियाणा में ही हुआ था। डॉ विकास दिव्यकीर्ति की प्रारंभिक शिक्षा हरियाणा में हुई थी। इनका बचपन से ही आईएएस ऑफिसर बनने का सपना रहा था। इनके माता-पिता दिल्ली के एक बड़े विश्वविद्यालय में हिंदी के प्रोफेसर पद पर रह चुके हैं। अपने माता और पिता की तरह ही डॉक्टर विकास जी हिंदी में बहुत रुचि रखते हैं। डॉ विकास दिव्यकिर्ति बचपन से ही पढ़ाई में बहुत होशियार रहे थे। शुरुआत में विकास ने अपनी पढ़ाई हरियाणा के सरस्वती शिशु मंदिर की थी। 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति की एजुकेशन ( शिक्षा ) 

डॉ विकास बचपन से ही पढ़ने लिखने में बहुत निपुण थे। प्रारंभिक शिक्षा उन्होंने अपने जन्म स्थान से ही की थी। उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए वह दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिला लिया। वहां से उन्होंने बीए की डिग्री को हिस्ट्री में हासिल किया। उसके बाद इन्होंने हिंदी विषय पर m.a. और एमफिल की पढ़ाई पूरी की। सिर्फ हिंदी विषय से डॉक्टर विकास में पीएचडी की पढ़ाई पूरी कर ली। उसके बाद डॉ विकास दिव्यकिर्ति ने समाजशास्त्र और जनसंचार के विषय में एमए की डिग्री ली।

इन्होंने अपनी आगे की पढ़ाई को जारी करते हुए एलएलबी में भी डिग्री हासिल कर ली। उसके डॉक्टर विकास अपने जीवन में आगे कुछ और करना चाहते थे। उनका सपना आईएएस बनने का था। फिर डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने हिंदी साहित्य से यूजीसी जेआरएफ और समाजशास्त्र विषय से नेट की परीक्षा को बेहतरीन अंकों के साथ में पास किया। इतनी सारी डिग्रियों को हासिल करने के बाद में भी डॉक्टर विकास दिव्यकीर्ति नहीं रुके उसके बाद डॉ विकास ने दिल्ली के कॉलेज और भारतीय विद्या भवन दोनों संस्थाओं के द्वारा अंग्रेजी और हिंदी अनुवाद में भी डिप्लोमा हासिल कर लिया था। 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति का पारिवारिक संबंध 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति के माता पिता दिल्ली के एक विश्वविद्यालय के प्रोफेसर हिंदी साहित्य के रह चुके हैं। इसके अलावा डॉ विकास दिव्यकीर्ति शादीशुदा व्यक्ति है। इनकी पत्नी का नाम तरुण वर्मा है। इनकी पत्नी ने भी पीएचडी में डिग्री हासिल कर रखी है, इसीलिए इनको भी डॉक्टर तरुण वर्मा के नाम से जाना जाता है। इनके एक बेटा है, जिसका नाम सात्विक दिव्यकीर्ति है। इसके अलावा इनके परिवार के संबंध में ज्यादा कुछ जानकारी नहीं है। 

Dr. Vikas Divyakirti Wiki, Age, Height, Education, Career, Biography & More

डॉ विकास दिव्यकीर्ति के कैरियर की शुरुआत

डॉ विकास दिव्यकीर्ति अपने बचपन के जीवन को लेकर कभी भी हताश या निराश नहीं हुए। उन्होंने अपने प्रारंभिक जीवन को ही सफलता का सफर माना है। डॉ विकास अपने स्कूल और कॉलेज के समय से ही अपने सभी साथियों के साथ में घूमने फिरने मौज मस्ती करने का शौक नहीं था। वो सिर्फ और सिर्फ पढ़ाई पर और अपने आईएएस बनने के लक्ष्य की तरफ ध्यान देते थे, और ऐसा उन्होंने करके भी दिखा दिया। उन्होंने अपने जीवन काल में संपूर्ण डिग्रियां हासिल करने के बाद में सन 1996 में यूपीएससी की परीक्षा दी। डॉ विकास हमेशा कॉलेज और स्कूल के टॉपर रहे हैं।

इस परीक्षा को इन्होंने पास भी कर लिया और एक अच्छे और देश के सफल आई ए एस ऑफिसर बने। 

Dr.Vikas Divyakirti Rank in UPSC 1996 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति सन 1996 में यूपीएससी की परीक्षा को बेहतरीन अंकों के साथ पास करने के बाद एक अच्छे प्रेरणादायक आईएएस ऑफिसर बने। उन्होंने पहली बार में ही यूपीएससी की परीक्षा को क्लियर कर लिया था।

लेकिन इसमें उनको रुचि नहीं लगी अर्थात इस नौकरी को कुछ महीनों तक ही किया। उसके बाद में अपने आईएएस के पद से डॉक्टर विकास में इस्तीफा दे दिया। क्योंकि डॉ विकास दिव्यकीर्ति का सपना कुछ और ही था।

उनको देश के हर युवा वर्ग जो आईएएस बनने का सपना रखता है। उन सभी को शिक्षित करना था,ताकि देश का आने वाला कल ओर भी अच्छा बन सके। उन्होंने आईएएस की नौकरी छोड़कर आईएएस के अध्यापक बन गए। इसके लिए उन्होंने एक कोचिंग सेंटर की शुरुआत भी कर दी थी। आज यह कोचिंग सेंटर हमारे देश के सबसे महत्वपूर्ण आईएएस कोचिंग सेंटर में माना जाता है।

डॉ विकास दिव्यकीर्ति के कैरियर की शुरुआत 

डॉ विकास दिव्यकिर्ति ने जब आईएएस ऑफिसर की नौकरी को छोड़ दिया था। उसके बाद उन्होंने एक बड़े आईएएस कोचिंग सेंटर को शुरू किया। यह कोचिंग सेंटर आज हमारे देश के प्रतिष्ठित कोचिंग सेंटरों में माना जाता है। क्योंकि डॉक्टर विकास के इस कोचिंग सेंटर में कोई ना कोई एक या दो छात्र हर साल आईएएस ऑफिसर बनता ही हैं। डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने इस कोचिंग का शुभारंभ दृष्टि आईएएस कोचिंग सेंटर के नाम से किया था। 

डॉ विकास अपने अंदर इतनी क्षमता रखते हैं, कि वह उन सभी छात्रों को जो आईएएस ऑफिसर बनना चाहते हैं, उनको एक से 2 महीने के अंदर आईएएस की ट्रेनिंग दे सकते हैं, इसीलिए डॉ विकास दिव्यकीर्ति आज पूरे देश में सभी के हीरो बन चुके हैं, और हमारे देश के यह पहले व्यक्ति हैं। जिन्होंने आईएएस के बड़े पद की नौकरी को छोड़ कर देश के उज्जवल भविष्य बच्चों के लिए कुछ नया करने के लिए सोचा और करके दिखा भी दिया।

दृष्टि विज़न की शुरुआत 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने जब आईएएस पद की नौकरी को ज्वाइन किया। उन्होंने 6 महीने तक ही इस पद पर कार्य किया। फिर इस पद से इन्होंने इस्तीफा दे दिया। इसके लिए उन्होंने भारत सरकार से सेवानिवृत्ति के लिए आग्रह किया। इस काम के लिए उनको 20 महीने लग गए थे। फिर इन्होंने नौकरी के लिए दिल्ली यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर पर की जॉब के लिए इंटरव्यू देने गए। वहा भी उनको नौकरी नहीं मिली। 20 महीने अपने बेरोजगारी को झेल रहे डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने दृष्टि द विज़न की शुरुआत की थी। अपने सभी स्टूडेंट्स को डॉ विकास बताते हैं कि उनकी बेरोजगारी का फल दृष्टि द विज़न है। 

अपने कोचिंग सेंटर में सभी विद्यार्थियों को पढ़ाई के नए-नए नुस्खे बताते रहते हैं। इन्होंने अपने कोचिंग सेंटर में आधुनिक तकनीकों का प्रयोग किया है, क्योंकि आज के समय के हिसाब से विद्यार्थियों के दिमाग को बहुत ही प्रभावशाली बनाने के लिए नए-नए आधुनिक तकनीकों का प्रयोग किया है। डॉ विकास सभी विद्यार्थियों को सही शिक्षा देने के लिए खुद के द्वारा लिखी हुई पुस्तकों को पढ़ने की सलाह देते हैं और पुस्तकें उनके लिए उपलब्ध भी करवाते हैं इन्हीं सब कार्यों की वजह से आज उनका कोचिंग सेंटर संपूर्ण भारत में प्रसिद्धि लिए हुए हैं। 

डॉ विकास दिव्यकिर्ति का यूट्यूब इंस्टीट्यूट 

आज के इस डिजिटल के दौर में डॉ विकास दिव्यकीर्ति में 2017 में अपने दो नए यूट्यूब चैनल शुरू किए। इन यूट्यूब चैनल का नाम दृष्टि आईएएस और दूसरे यूट्यूब चैनल का नाम दृष्टि आईएएस इंग्लिश रखा। इन दोनों यूट्यूब चैनल में इंस्टीट्यूट के सभी अध्यापक जो भी आईएएस के अभ्यार्थी हैं, उन सभी को फ्री में शिक्षा प्रदान करते हैं।

Dr. Vikas divyakirti income

डॉ विकास ने भारत सरकार के गृह मंत्रालय के अंतर्गत एक अच्छा आईएएस ऑफिसर बन के कुछ ही समय के लिए काम किया उसके बाद उन्होंने अपने पद से रिजाइन दे दिया आज डॉ विकास दिव्यकीर्ति भारत के प्रसिद्ध आईएएस अध्यापक है वह सोशल मीडिया पर भी अपने बहुत वीडियोस अपलोड करते रहते हैं आज 5.8 मिलियन से भी अधिक उनके व्यूअर है। सन 2019 डॉ विकास दिव्यकीर्ति की कुल संपत्ति 2 करोड रुपए की थी। 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें 

डॉ विकास दिव्यकीर्ति के बारे में कुछ और महत्वपूर्ण जानकारियां व रोचक तथ्य जिनके बारे में आपको जानकारी दे रहे हैं…

  • डॉ विकास दिव्यकीर्ति ने अपने जीवन में एक बार नहीं बल्कि दो बार आईएएस की परीक्षा दी और दोनों ही बार आईएएस की परीक्षा को पास कर लिया था।
  • डॉक्टर विकास को किन्ही कारणों की वजह से प्रॉपर आईएएस का पद नहीं मिल पाया इसलिए इन्हें गृह मंत्रालय में जॉब मिल गई थी लेकिन उस जॉब को इन्होंने ठुकरा दिया था।
  • इन्होंने सन 1996 में दिव्यकीर्ति कोचिंग सेंटर की स्थापना की। आज संपूर्ण भारत में इनके पांच प्रसिद्ध कोचिंग सेंटरों में से एक आईएएस कोचिंग सेंटर माना जाता है।
  • इनके माता व पिता दोनों ही दिल्ली यूनिवर्सिटी में हिंदी साहित्य के अच्छे प्रोफेसर थे।
  • डॉ.विकास ने अपने यूट्यूब चैनल के द्वारा फ्री में सभी सब्सक्राइबर को शिक्षा दे रहे हैं।
  • इनके यूट्यूब चैनल पर 4700 से अधिक वीडियो अपलोड किए जा चुके हैं।
  • 2019 में इनकी कमाई एक से दो करोड़ रुपए की हुई थी।
  • डॉ.विकास ने दृष्टि आईएएस से जुड़े हुए छात्रों की सहायता के लिए एक वेबसाइट भी बनाई है जिसके द्वारा वह अपनी पढ़ाई से जुड़ी समस्याओं का समाधान कर सकते हैं।
  • डॉ विकास दिव्यकीर्ति हिंदी पढ़ाने वाले इकलौते आईएएस शिक्षक बने।
  • सन 2021 में डॉ विकास के यूट्यूब चैनल पर 6 मिलियन से भी अधिक लोग जुड़ चुके हैं।
  • डॉ विकास में अपने जीवन में कई महत्वपूर्ण पुस्तकें भी लिखी हैं।

निष्कर्ष 

आज हमने आपको डॉ विकास दिव्यकीर्ति बॉयोग्राफी इन हिंदी के बारे में बहुत ही महत्वपूर्ण जानकारियां आपको उपलब्ध करवाई है। उन्होंने अपने जीवन में किस तरह संघर्ष करके आज एक भारत के जाने वाले सफल आई ए एस अध्यापक के रूप में जाने जाते हैं।

उम्मीद है, आपको यह सब जानकारी पसंद आई होगी। इससे और अधिक या किसी समस्या के लिए अब हमारे कमेंट सेक्शन में जाकर कमेंट करके पूछ सकते हैं और हमारी वेबसाइट से जुड़ सकते हैं। 

FAQs

Q.1 दृष्टि विज़न आई एस के मालिक कौन है?

डॉ विकास दिव्यकीर्ति

Q.2 डॉ विकास दिव्यकीर्ति की उम्र कितनी है?

46 साल।

Q.3 दृष्टि आईएएस क्या है?

एक आईएएस कोचिंग इंस्टिट्यूट है।

Q.4 डॉ विकास दिव्यकीर्ति है कौन?

डॉ विकास दिव्यकीर्ति एक आईएएस अध्यापक है।

Q.5 आईएएस का फुल फॉर्म क्या होता है?

I-इंडियन, A- एडमिनिस्ट्रेटिव , S- सर्विस।

Q.6 दृष्टि विज़न आईएएस कोचिंग की फीस कितनी होती हैं?

90000 से ₹100000 +जीएसटी

Leave a Comment